CTET Solved Paper - CTET September 2015

Avatto > > CTET > > CTET Solved Paper > > CTET September 2015

निर्देश (प्र.सं. 121 -129) नीचे दिए गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के सबसे उचित उत्तर वाले विकल्प चुनिए |

‘आदमी की तलाश’, यह स्वर अक्सर सुनने को मिलता है| यह भी सुनने को मिलता है की आज आदमी, आदमी नहीं रहा| इन्हीं स्थितियों के बीच दार्शनिक राधाकृष्णन की इन पक्तियों का स्मरण हो आया “हमने पक्षियों की तरह उड़ना और मछलियों की तरह तैरना तो सीख लिया है, पर मनुष्य की तरह पृथ्वी पर चलना और जीना नहीं सीखा|” जिंदगी के सफर में नैतिक और मानवीय उद्देश्यों के प्रति मन में अटूट विशवास होना जरूरी है| कहा जाता है – आदमी नहीं चलता, उसका विशवास चलता है| आत्मविश्वास सभी गुणों को एक जगह बाँध देता है, यानी कि विशवास की रोशनी में मनुष्य का सम्पूर्ण व्यक्तित्व और आदर्श उजागर होता है| गेटे की प्रसिद्ध उक्ति है कि जब कोई आदमी ठीक काम करता है तो उसे पता तब नहीं चलता कि वह क्या कर रहा है, पर गलत काम करते समय उसे हर क्षण यह ख्याल रहा है कि वह जो कर रहा है, वह गलत है| गलत को गलत मानते हुए भी इंसान गलत किए जा रहा है| इसी कारण समस्याओं एवं अँधेरों के अंबार लगे हैं| लेकिन ऐसा ही नहीं है| कुछ अच्छे लोग भी हैं, शायद उनकी अच्छाइयों के कारण ही जीवन बचा हुआ है| ऐसे लोगों ने नैतिकता और सच्चरित्रता का खिताब ओढ़ा नहीं, उसे जीकर दिखाया|वए भाग्य और नियति के हाथों खिलौना बनकर नहीं बैठे, स्वयं के पसीने से अपना भाग्य लिखा| महात्मा गाँधी ने इसलिए कहा कि हमें वह परिवर्तन खुद बनना चाहिए, जिसे हम संसार में देखना चाहते हैं| जरूरत है कि हम दर्पण जैसा जीवन जीना सीखें| उन सभी खिड़कियों को बंद कर दें, जिनसे आने वाली गन्दी हवा इंसान को इंसान नहीं रहने देती| मनुष्य के व्यवहार में मनुष्यता को देखा जा सके, यही ‘आदमी की तलाश’ है|

1. 'मन में अटूट विशवास होना जरूरी है|' उपयुक्त वाक्य में 'अटूट' शब्द व्याकरण की दृष्टी से है

  • Option : A
  • Explanation : अटूट विश्वास में विश्वास एक विशेष्य तथा 'अटूट' एक विशेषण है, जो विश्वास की विशेषता बता रहा है|
Cancel reply

Your email address will not be published.


Cancel reply

Your email address will not be published.


2. मुख्य भाव के अनुसार गद्यांश का सबसे उपयुक्त शीर्षक हो सकता है

  • Option : C
  • Explanation : गद्यांश का सबसे उपयुक्त शीर्षक मानवीय उद्देश्य हो सकता है क्योंकि सम्पूर्ण गद्यांश में नैतिक और मानवीय मूल्यों के प्रति सजगता पर बल दिया गया है |
Cancel reply

Your email address will not be published.


Cancel reply

Your email address will not be published.


3. सभी गुणों को एक स्थान पर जोड़ने की शक्ति किसमें बताई गई है?

  • Option : B
  • Explanation : आत्मविश्वास में सभी गुणों को एकसाथ जोड़ने की शक्ति बताई गई है|
Cancel reply

Your email address will not be published.


Cancel reply

Your email address will not be published.


4. कौन-सा शब्द लिंग की दृष्टी से शेष से भिन्न है?

  • Option : C
  • Explanation : अन्य सभी स्त्रीलिंग हैं, जबकि पक्षी पुल्लिंग में है| अतः पक्षी अन्य से शब्दों से लिंग की दृष्टी से भिन्न है|
Cancel reply

Your email address will not be published.


Cancel reply

Your email address will not be published.


5. 'आदमी आदमी नहीं रहा' कथन का भाव है

  • Option : B
  • Explanation : आदमी-आदमी नहीं रहा से आशय है - मनुष्य में मनुष्यता नहीं रही |
Cancel reply

Your email address will not be published.


Cancel reply

Your email address will not be published.